Career path after 12th

Career options after 12th – बेहतर भविष्य के लिए धांसू विकल्प

Class 12th , छात्र जीवन की सबसे महत्वपूर्ण परीक्षा मानी जाती है। जिसे हर छात्र अच्छे नम्बरों के साथ पास करना चाहता है। कुछ छात्र वांछित अंकों के साथ अपनी परीक्षा उत्तीर्ण करते हैं और कुछ ऐसा करने में असफल होते हैं। लेकिन परिणाम कुछ भी हो,  आपको 12th के बाद अपने career option का चुनाव करना ही होगा। बस, करियर विकल्प चुनते समय एक बात याद रखें, रुचि और योग्यता अंकों से ज्यादा महत्वपूर्ण है।

अपने पिछले लेख में हमने Career options after 10th के बारे में बात की थी। यदि आपने 10वीं कक्षा में अपना करियर तय कर लिया था, तो आप इसे आगे बढ़ाएं। लेकिन अगर आप अभी फैसला करना चाहते हैं, तो बहुत सारे विकल्प उपलब्ध हैं। छात्रों के बीच career options, job opportunities  और उनकी पसंद को लेकर भ्रम की स्थिति बनी रहती है। जिससे सही करियर चुनना मुश्किल हो जाता है। इससे पहले कि हम आपको 12वीं के बाद उपलब्ध विकल्पों के बारे में बताएं। हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताएंगे जो आपको अपना करियर तय करने में मदद करेंगे।

Career scope indicator

List all the career options after 12th

कभी-कभी यह तय करने के लिए कि आप क्या चाहते हैं, यह जानना जरुरी है कि आप क्या नहीं चाहते हैं। इसलिए निर्णय लेने से पहले आप वह सब हटा दें जो आप नहीं करना चाहते हैं। ऐसा करने से आपके पास आपकी रुचि अनुसार ही विकल्प बचेंगे। उनमें से जो आपको सबसे अधिक रूचिकर लगता है, उसे चुने।

करियर काउंसलर की मदद लें (Take help from Career Counselor)

समस्या चाहें व्यक्तिगत हो या पेशेवर, मदद लेना हमेशा एक अच्छा विकल्प रहता है। पेशा परामर्शदाता (Career Counselor) एक प्रशिक्षित पेशेवर होते है। वे आपका व्यक्तिगत और व्यावसायिक योग्यताओं के आधार पर परीक्षण और मूल्यांकन करते हैं। जिसके आधार पर वो आपको सही करियर चुनने की सलाह देते है। उनके द्वारा बताये विकल्प चुनना आवश्यक नहीं है, लेकिन यह आपको निर्णय लेने में मदद करेगा।

दूसरों का अनुसरण न करें (Don’t Follow Others)

दूसरों का अनुसरण करना हमेशा सही नहीं होता। Class 12 के परिणाम आने के बाद आपके दोस्त और माता-पिता आपपर दबाव बना सकते है। वो आपको किसी एक विकल्प को चुनने के लिए कह सकते है। वे आपको समझाने के लिए एक बहुत ही आकर्षक कहानी बताते है। लेकिन उनके प्रभाव में आकर निर्णय न लें। ऐसे निर्णय का परिणाम अच्छा नहीं निकलता है। आपके लिए सही रास्ता क्या है, यह जानने के लिए हमेशा अपनी रुचि और क्षमताओं पर भरोसा करें।

वेतन के पीछे मत भागो (Don’t Run Behind Salary)

Career option तय करते समय किसी विशेष नौकरी के वेतन पहलू पर ध्यान न दें। क्यूंकि हो सकता है की वो आपको उतने अच्छे परिणाम न दें। ऐसा इसलिए हो सकता है क्योंकि वास्तव में वह नौकरी आपको कभी पसंद नहीं थी। लेकिन फिर भी आपने इसके उच्च वेतन के कारण इसको चुना। इसीलिए वेतन के बजाय अपने सपनों को अधिक महत्व दें। जैसा की कहा जाता है कि “पैसा सफलता का अनुसरण करता है”। तो अपने सपनो को सफल बनाइये, पैसा अपने आप पीछे चला आएगा।

अल्पकालिक पाठ्यक्रम पढ़ें (Do Short Term Courses)

कभी-कभी यह पता लगाना मुश्किल हो जाता है कि आपकी रुचि किस्मे है। रुचि का पता लगाने का एकमात्र तरीका इसका अध्ययन करना है। आज कई कॉलेज अल्पकालिक पाठ्यक्रम (short term Courses) प्रदान करते हैं। आप अपनी रुचि के अनुसार इनमे प्रवेश ले सकते है। ऐसा करने से आप अपनी रूचियों और क्षमताओं का ठीक से आकलन कर पाएंगे। जो आगे चलकर आपके career selection में सहायक होगा।

आपको किससे खुशी मिलती है (What makes you Happy)

Class 12 का परिणाम आने के बाद, थोड़ा समय लेके सोचिए कि आपको किस काम से खुशी मिलती है। वह पेंटिंग, लेखन, कविता, डॉक्टर बनना, इंजीनियरिंग में जाना आदि कुछ भी हो सकता है। एक अच्छा पेशेवर वह है जो अपने जुनून को अपने करियर में बदल दें। ऐसा करने से वह काम से परेशान नहीं होते है।

हमें उम्मीद है कि इन सुझावों से आपको सही करियर विकल्प तय करने में मदद होगी। Class 12th के बाद career option चुनने में हमें देर नहीं करनी चाहिए। क्योंकि अंतिम समय में आप गलत करियर चुन सकते हैं, जोकि आपकी योग्यता के अनुकूल न हों। इसलिए हमें जल्दी शुरुआत करनी होगी, इसके लिए हमें उपलब्ध विकल्पों को जानना जरुरी है। १२वीं कक्षा के बाद सर्वोत्तम पाठ्यक्रम चुनने के लिए छात्रों को पात्रता, प्रवेश प्रक्रिया, कार्यक्षेत्र आदि कारकों के संबंध में उचित जानकारी की आवश्यकता है।

Flow chart career path after class 12th

स्नातक पाठ्यक्रम (Under Graduate Course options after class 12th)

आपने चाहें जिस स्ट्रीम से १२वीं कक्षा पास की हो, स्नातक पाठ्यक्रम (under graduate courses) में सभी के लिए पर्याप्त विकल्प है। नियमित स्नातक डिग्री से लेकर व्यावसायिक पाठ्यक्रम और यहां तक ​​कि डिप्लोमा/डिग्री पाठ्यक्रम भी उपलब्ध हैं। अब हम स्ट्रीम के अनुसार कौन से विकल्प उपलब्ध हैं, उसके बारें में विस्तार से बताएंगें।

 

विज्ञान के छात्रों के लिए उपलब्ध स्नातक पाठ्यक्रम (Under Graduate Courses Available for Science Students)

विज्ञान के छात्रों के लिए स्नातक पाठ्यक्रम में बहुत सारे career options उपलब्ध हैं। जिन छात्रों को इंजीनियरिंग (engineering) में रुचि है वो टेक्निकल कोर्सेज(technical courses) चुन सकते है। मेडिकल(medical) में रुचि रखने वालों के लिए MBBS के पाठ्यक्रम है। जो छात्र दोनों में से कुछ नहीं करना चाहते वो नियमित स्नातक पाठ्यक्रम का चुनाव कर सकते है।

तकनीकी पाठ्यक्रम (Technical Courses)

इंजीनियरिंग में रुचि रखने वाले छात्रों के लिए BE/ B.Tech के कोर्सेज उपलब्ध है। BE/ B.Tech के अंतर्गत आप Aeronautical Engineering, Automobile Engineering, Civil Engineering, Computer Science and Engineering, Biotechnology Engineering, Electrical and Electronics Engineering, Electronics and Communication Engineering, Petroleum Engineering, Chemical Engineering, Robotics Engineering आदि विषय उपलब्ध है। इनमें प्रवेश के लिए आपको इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा पास करनी होती है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान संयुक्त प्रवेश परीक्षा (IIT-JEE) और अखिल भारतीय इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा (AIEEE), भारत में इंजीनियरिंग संस्थानों में प्रवेश के लिए दो प्रमुख परीक्षाएं है। इसके अलावा विभिन्न राज्य इंजीनियरिंग महाविद्यालयों में प्रवेश के लिए अपनी स्वयं की प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं।

मेडिकल पाठ्यक्रम (Medical Courses)

एमबीबीएस (MBBS) करने के इच्छुक छात्र को भी कई विकल्प उपलब्ध है। जिनमे MBBS, BDS, BAMS(Ayurveda), BHMS(Homeopathy), Bachelor of Pharmacy, Bachelor of Physiotherapy आदि कोर्सेज मुख्य है। राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (National Eligibility cum Entrance Test-NEET) MBBS से जुड़े पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए एकमात्र प्रवेश परीक्षा है। सभी सरकारी और निजी मेडिकल कॉलेज, विश्वविद्यालय आदि NEET-UG के परिणाम को ही प्राथिमिकता देते है। इसीलिए मेडिकल कोर्सेज में प्रवेश के लिए आपको NEET की परीक्षा उत्तीर्ण करना जरुरी है।

नियमित पाठ्यक्रम (Regular Courses)

जो छात्र इंजीनियरिंग या मेडिकल का अध्ययन नहीं करना चाहते हैं, उनके लिए भी पाठ्यक्रम उपलब्ध है। ये छात्र B.Sc.- Applied Geology, B.Sc. Liberal Arts, B.Sc.- Physics, B.Sc. Chemistry, B.Sc. Mathematics, B.Sc. – Nutrition & Dietetics आदि बहुत से B.Sc. कोर्सेज उपलब्ध है। विश्वविद्यालय इन पाठ्यक्रमों के लिए अपनी परीक्षा आयोजित करते हैं। आपको जिस विश्वविद्यालय में प्रवेश चाहिए उसकी प्रवेश परीक्षा आपको पास करनी होगी।

स्ट्रीम चेंजर्स के लिए पाठ्यक्रम (Courses for Stream Changers)

यदि आपने 12वीं कक्षा में विज्ञान पढ़ा है लेकिन अब पढ़ना नहीं चाहते हैं। कोई बात नहीं, आप कला और मानविकी या वाणिज्य पाठ्यक्रम का विकल्प चुन सकते है। क्या आप निश्चित हैं, हम ऐसा कर सकते हैं? जी हाँ, आप ऐसा कर सकते है। गैर-विज्ञान के छात्रों की तुलना में विज्ञान के छात्रों के लिए ज्यादा विकल्प उपलब्ध है।

विज्ञान के बजाये यदि आप वाणिज्य चुनते है तो आप, Bachelor of Business Economics, Bachelor of International Business and Finance, Management Studies, Bachelor of Business Administration (BBA), Banking and Insurance (BBI), Charted Accountancy, Company Secretary आदि पाठ्यक्रमों में प्रवेश पा सकते है। विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश प्रवेश परीक्षा के माध्यम से होता है। ये परीक्षाएं कोर्स कराने वाले महाविद्यालयों या विश्वविद्यालयों द्वारा आयोजित की जाती हैं। 

यदि आप कला का विकल्प चुनते है तो भी आपको बहुत से पाठ्यक्रमों में प्रवेश पा सकते है। जिनमे मुख्य है Hotel Management, Retail Management, LLB, Bachelor in Social Work (BSW), Designing Courses, Physical Courses. इन विषयों में भी प्रवेश के आपको प्रवेश परीक्षाएं देना होगा।

 

वाणिज्य के छात्रों के लिए उपलब्ध स्नातक पाठ्यक्रम (Under Graduate Courses Available for Commerce Students)

विज्ञान के बाद सबसे ज्यादा करियर विकल्प वाणिज्य में ही मिलते है। वाणिज्य(commerce) से १२वीं करने के बाद आप नियमित या व्यावसायिक दोनों तरह के पाठ्यक्रम का विकल्प चुन सकते है। नियमित पाठ्यक्रम में आप B.Com या  B.Com(Hons.) कोर्सेज चुन सकते है। व्यवसायिक कोर्सेज में आप Bachelor in Business Administration (BBA), Integrated Law Program, Chartered Accountancy, Company Secretary आदि कोर्सेज उपलब्ध है। इन सभी पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आपको प्रवेश परीक्षा पास करनी होती है। इन पाठ्यक्रमों के लिए कोई सामान्य प्रवेश परीक्षा नहीं है। प्रवेश परीक्षाएं सम्बंधित महाविद्यालयों या विश्वविद्यालयों द्वारा आयोजित की जाती हैं। 

वाणिज्य छोड़ने वाले छात्रों के लिए पाठ्यक्रम (Courses for Student Leaving Commerce)

क्या आप व्यावसायिक अध्ययन से आप परेशान हो गए है? यदि जवाब हाँ है तो आप अपनी स्ट्रीम बदल सकते है। लेकिन यदि आप गणित के डर की वजह से ऐसा कर रहे है, तो आपके पास इसी स्ट्रीम में विकल्प है। BBA, CA, CFA आदि ऐसे पाठ्यक्रम है जिनको पढ़ने के लिए गणित आवश्यक नहीं है। लेकिन यदि आप इसे पूरी तरह से छोड़ना चाहते हैं, तो भी संभव है। आप Bachelor of Law, Bachelor of Journalism & Mass Communication, Hotel Management Courses,  Photography, Fashion Designing आदि विषय चुन सकते है। 

 

कला के छात्रों के लिए उपलब्ध स्नातक पाठ्यक्रम (Under Graduate Courses Available for Arts Students)

अगर आप सोचते है कि कला के छात्रों के पास विज्ञान और वाणिज्य के छात्रों से कम अवसर है। तो आप बिलकुल गलत सोचते है। कला के विद्यार्थी Bachelor of Business Administration (BBA), Bachelor of Management Science (BMS), Bachelor of Fine Arts (BFA), Bachelor of Event Management (BEM), Integrated Law Course (BA + LL.B), BA in History, Aviation Courses, Bachelor of Journalism and Mass Communication (BJMC), Bachelor of Fashion Designing (BFD), Bachelor of Social Work (BSW), Bachelor of Design (B. Design), Bachelor of Performing Arts आदि पाठ्यक्रमों में प्रवेश ले सकते है। किसी भी पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए आपको उससे सम्बंधित प्रवेश परीक्षा पास करनी होगी। जिनका आयोजन सम्बंधित महाविद्यालय या विश्वविद्यालय करते है। 

व्यावसायिक पाठ्यक्रम (Vocational Courses options after class 12th)

अबतक हमें विभिन्न स्ट्रीम में उपलब्ध स्नातक पाठ्यक्रमों के बारें में बताया। लेकिन यदि आप स्नातक पाठ्यक्रम नहीं पढ़ना चाहते है, तो आप अल्पावधि के व्यावसायिक पाठ्यक्रम चुन सकते है। व्यावसायिक पाठ्यक्रम उद्योंगों के आवशकता के अनुरूप होते है। ये पाठ्यक्रम आपकी करियर की उन्नाति में मदद करता है। ये पाठ्यक्रम आमतौर पर सामुदायिक कॉलजों, करियर केंद्रों, तकनीकी स्कूलों और कुछ विश्विद्यालयों में पढ़ाया जाता है।   

व्यावसायिक पाठ्यक्रम(vocational courses) आमतौर पर स्वास्थ देखभाल, कंप्यूटर प्रद्योगिकी, होटल प्रबंधन, योग, पत्रकारिता आदि छत्रों में पेश की जाती है। अधिकांश व्यावसायिक पाठ्यक्रम किसी भी स्ट्रीम वाले छात्र कर सकते है। इन पाठ्यक्रमों का चुनाव आप अपनी रुचि और करियर प्राथमिकताओं को ध्यान में रखते हुए कर सकते है। भारत में बड़ी संख्या में व्यावसायिक पाठ्यक्रम उपलब्ध है, सबको यहाँ सूचीबद्ध कर पाना संभव नहीं है। नीचे हमने कुछ लोकप्रिय कोर्सेज की सूची प्रदान की है।

  • होटल प्रबंधन में डिप्लोमा (Diploma in Hotel Management)
  • योग में डिप्लोमा (Diploma in Yoga)
  • शारीरिक शिक्षा में डिप्लोमा (Diploma in Physical Education)
  • औद्योगिक सुरक्षा में डिप्लोमा (Diploma in Industrial Safety)
  • पोषण और डायटेटिक्स में डिप्लोमा (Diploma in Nutrition and Dietetics)
  • नर्सिंग में डिप्लोमा (Diploma in Nursing)
  • फैशन डिजाइनिंग में डिप्लोमा (Diploma in Fashion Designing)
  • चित्रकारी में डिप्लोमा (Diploma in Drawing & Painting)
  • एयर होस्टेस और कर्मी दल में डिप्लोमा (Diploma in Air Hostess & Crew)
  • इवेंट प्रबंधन में डिप्लोमा (Diploma in Event Management)
  • विदेशी भाषा में डिप्लोमा (Diploma in Foreign Language)
  • कंप्यूटर हार्डवेयर में डिप्लोमा (Diploma in Computer Hardware)
  • सूचना प्रद्योगिकी में डिप्लोमा (Diploma in Information Technology)
  • फार्मेसी में डिप्लोमा (Diploma in Pharmacy)

Class 12 के बाद रोजगार के अवसर (Career options after Class 12)

अब सवाल उन छात्रों का आता है जो अपनी पढाई जारी रखने के बजाये नौकरी करना चाहते है। यह सवाल उनके लिए भी है जो अपनी आर्थिक स्थिति के कारण आगे अध्ययन जारी नहीं कर सकते है। उन छात्रों के लिए बहुत से private and government  job opportunities उपलब्ध है। आप अपने कौशल और रुचि के अनुसार इन नौकरियों के लिए आवेदन कर सकते है।

Girl with job comparison

 

Class 12 के बाद निजी छेत्र में रोजगार के अवसर (Job Opportunities in Private Sector after Class 12th)

Class 12 पास करने का मतलब यह नहीं है कि आपके पास औद्योगिक और तकनीकी ज्ञान है। अनुभव के बिना private job मिलना बहुत मुश्किल है। लेकिन फिर भी कुछ ऐसे छेत्र है जहाँ आप अपने कौशल के आधार पर नौकरी पा सकते है। लेकिन बिना किसी अनुभव और प्रासंगिक डिग्री के आपको शुरुआत में कम वेतन मिल सकता है। जैसे-जैसे आप समय के साथ अनुभव प्राप्त करेंगे आपको अधिक वेतन मिलेगा। अपने वेतन को बढ़ने का दूसरा तरीका है, काम करते हुए सम्बंधित छेत्र में डिप्लोमा या डिग्री प्राप्त करना। नीचे हमने कुछ नौकरियों पर संक्षेप में चर्चा की है।

लेख लेखन (Article Writing)

प्रभावशाली लेखन कौशल रखने वाले छात्र इस विकल्प का चुनाव कर सकते है। आज बहुत सी कंपनियां अच्छे लेखकों की तलाश में है। इस पेशे में आपको कंपनी के वेबसाइट, blog, social media, digital marketing content आदि के लिए प्रासंगिक लेख लिखना होता है। इस छेत्र में आपकी सफलता आपके लेखन और अनुभव पर निर्भर करती है।

शिक्षण शिक्षक (Tuition Teacher)

यदि आप पढाई में होशियार है और विषयों में आपकी पकड़ है, तो आप एक ट्यूशन टीचर बन सकते है। बहुत सारे शिक्षण संस्थान है जिन्हे अच्छे शिक्षकों की निरंतर आवश्यकता रहती है। इसके अलावा आप छात्रों को होम ट्यूशन के लिए बुला सकते है, या फिर उनके घर जाके पढ़ा सकते है। आप ऑनलाइन टीचिंग प्लेटफार्म पर भी अपने करियर की शुरुआत कर सकते है। यह पेशा आपको अच्छी आमदनी करा सकता है क्यूंकि सबकुछ आपकी क्षमताओं और कड़ी मेहनत पर निर्भर करता है।

तथ्या दाखिला प्रचालक (Data Entry Operator)

अगर आपके पास कंप्यूटर की वर्किंग नॉलेज और अच्छी टाइपिंग स्पीड है, तो आप इस विकल्प को चुन सकते है। आजकल लगभग सभी कंपनियों का काम कंप्यूटर के माध्यम से होता है। इसीलिए उन्हें लगातार data entry operator की जरुरत रहती है। इस छेत्र में आप अच्छा करियर बना सकते है। अनुभव प्राप्त करने के साथ अगर आप सम्बंधित विषय में डिप्लोमा/ डिग्री हासिल कर लेते है, तो आपको अच्छी करियर ग्रोथ मिल जाती है।

व्यापर प्रक्रिया आउटसोर्सिंग (Business Process Outsourcing)

Business Process Outsourcing संक्षिप्त में BPO के नाम से जाना जाता है, Class 12th के बाद एक अच्छा career option है। इस छेत्र में काम करने का फायदा यह है कि नौकरी पर प्रशिक्षण के दौरान भी आपको वेतन देते है। BPO युवाओं में बहुत ही लोकप्रिय नौकरी है। इसमें समय के साथ आगे बढ़ने की अपार सम्भावनाये है।

अपना व्यापर शुरू करना (Start your own Business)

यदि आपके पास आत्मविश्वास और पर्याप्त धन है, तो आप अपना व्यापर शुरू कर सकते है। नए विचार के साथ आप एक अच्छा startup शुरू कर सकते है। स्वरोजगार (self employment) करने के अलग ही फायदे है। आप जितनी मेहनत करेंगे आपका व्यापर उतना ही सफल होगा। परन्तु इसमें नुकसान की भी सम्भावना बनी रहती है। इसलिए व्यापर शुरू करने से पहले उसपे अच्छे से विचार विमर्श जरूर करें।

 

Class 12 के बाद सरकारी छेत्र में रोजगार के अवसर (Job Opportunities in Government Sector after Class 12th)

कुछ छात्र ऐसे भी होते है जिनमे देश के लिए कुछ करने की भावना होती है। Class 12 के बाद ऐसे छात्रों के लिए बहुत से options उपलब्ध है। Government jobs करने के अपने अलग ही benefits है। एक तो यहाँ आपकी नौकरी सुरक्षित रहती है और दूसरे आपको अच्छी तनख्वाह भी मिलती है। परेशानी मुख्त जीवन और सामाजिक प्रतिष्ठा के कारण भारत में सरकारी नौकरियों की बहुत मांग है। government job के लिए आप १२वीं कक्षा के बाद से प्रयास शुरु कर सकते है। सरकारी नौकरी का लक्ष्य रखने वाले छात्रों के लिए संभावित विकल्प नीचे उल्लेखित है।

भारतीय सशस्त्र बल (Indian Armed Forces)

भारतीय सशस्त्र बल तीन भागों में विभाजित है जिनमें भारतीय सेना (Indian Army), भारतीय नौसेना(Indian Navy) और भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) शामिल है। अगर आपने Class 12 में Physics और Mathematics से पढाई की है तो आप भारतीय सशस्त्र बल में शामिल हो सकते है। अधिकारी वर्ग में प्रवेश के लिए आपको राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (National Defense Academy) यानि NDA की प्रवेश परीक्षा पास करनी होगी। वहीं गैर अधिकारी वर्ग के लिए अलग से job vacancies निकली जाती है। तीनो सेनाएं अपनी अपनी रिक्तियों के लिए भर्तियां निकलती है। आप अपनी रुचि अनुसार भर्तियों में भाग ले सकते है। भारतीय सेना, भारतीय नौसेना और भारतीय वायुसेना  के आधिकारिक वेबसइट पर जाके आप बाकी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

कर्मचारी चयन आयोग (Staff Selection Commission)

कर्मचारी चयन आयोग हर साल रिक्त पदों के लिए job vacancies निकलता है। संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तर (Combined Higher Secondary Level) यानि CHSL परीक्षा के माध्यम से वो कर्मचारियों का चयन करता है। Staff Selection Commission के आधिकारिक वेबसाइट के इस https://ssc.nic.in/ लिंक पर आपको जरुरी जानकारी प्राप्त हो जाएगी। 

रेलवे नियुक्ति संस्था (Railway Recruitment Board)

रेलवे भारत में सबसे ज्यादा नियुक्तियां निकलता है। भारतीय रेलवे के पास १२वीं कक्षा पास उम्मीदवारों के लिए भी रिक्तियां है। जिनमे सहायक लोको पायलट(Assistant Loco Pilot), टिकट कलेक्टर(Ticket Collector), कार्यालय सहायक(Office Assistant), सहायक स्टेशन मास्टर(Assistant Station Master) आदि रिक्तियां शामिल है। रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट https://indianrailways.gov.in/ पर आपको भर्तियों की सही जानकारी प्राप्त होती है।

अर्द्धसैनिक बल (Para Military Forces)

भारतीय सेना के अलावा आप सीमा सुरक्षा बल (Border Security Force -BSF), भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल (Indo-Tibetan Border Police Force -ITBP), सशस्त्र सीमा बल (Sashastra Seema Bal -SSB), केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (Central Reserve Police Force -CRPF), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (Central Industrial Security Force -CISF) और भारतीय तट रक्षक (Indian Coast Guard) के कुछ पदों के लिए आवेदन कर सकता है। Para Military Forces के सम्बंधित वेबसाइट पर जाके आप job vacancies के बारें में जान सकते है।  

राज्य सरकार में नौकरियां (Jobs in State Government)

राज्य सरकारें भी समय समय पर Class 12 के उम्मीदवारों के लिए रिक्तियां निकलती रहती है। जिनमें मकैनिक, ड्राइवर, टेलीफोन ऑपरेटर, ऑफिस असिस्टेंट आदि पद शामिल है। आप सम्बंधित राज्यों की वेबसाइट पर जाके रिक्तियों के बारें में जानकारी प्राप्त कर सकते है।

अब तक हमने आपको Class 12 के बाद उपलब्ध लगभग सभी career options के बारें में बता दिया है। अगर आप इस लेख में दिए विकल्पों और सुझावों पर ध्यान देंगे, तो आप आसानी से अपना करियर चुन सकते है। अंत में हम आपसे यही कहेगें कि आप चाहे जो चुने उसको पाने किये पूरा प्रयास और कड़ी मेहनत जरूर करें। अगर आप अपना कोई विचार या सुझाव हमारे पाठको से साझा करा चाहते है, तो नीचे टिपण्णी अनुभाग में लिखें।

 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!