BA के बाद करियर विकल्प

BA के बाद क्या करें, जबरजस्त विकल्प जिससे मिले बड़ी से बड़ी जॉब

BA से स्नातक करने के बाद आप अपने करियर को लेकर असमंजस में है? BA के बाद क्या करें, अपने करियर विकल्प को लेकर भ्रम की स्थिति में है? आगे पढाई जारी रखना है या नौकरी की तैयारी करनी है? आदि सवालों ने आपको परेशान किया हुआ है। आपकी इसी परेशानी का हल हमने इस लेख के माध्यम से किया है।

हमारे देश में आर्ट्स स्ट्रीम को हमेशा से सबसे कमजोर विषय माना गया है। बीए पढ़ने वाले छात्रों को भी कमजोर छात्रों के रूप में देखा जाता रहा है। परन्तु सत्यता इससे उलट है। बीए के छात्रों के लिए बाकि स्ट्रीम्स से ज्यादा करियर विकल्प मौजूद है। बीए के छात्र अपनी लगन और परिश्रम से सफल प्रशासनिक अधिकारी, व्यवसायी, शिक्षक, राजनितिक, वकील, फैशन डिज़ाइनर आदि बन सकते है।

BA के बाद उपलब्ध कोर्सेज एवं करियर विकल्प

BA के बाद क्या करियर विकल्प

12वीं कक्षा के बाद करियर विकल्प के रूप में BA से स्नातक एक अच्छा विकल्प है। क्यूंकि BA के छात्रों के लिए बहुत से करियर विकल्प उपलब्ध है। परन्तु किसी भी विकल्प को चुनने से पहले छात्रों को अपनी योग्यता और रूचि का ध्यान रखना चाहिए। जिससे की आप सही विषय और पेशा चुन सकें।

आइए अब हम आपको बीए के बाद उप्लब्श करियर विकल्पों के बारें में विस्तार से बतातें है। जिससे आपको सही निर्णय लेने में आसानी होगी। सही करियर विकल्प चुनने के लिया आप पेशेवर राय भी ले सकते है।

BA के बाद आप मास्टर्स ऑफ़ आर्ट्स/ MA कर  सकते है

अगर आपकी रुचि पढाई में है, और आप आगे पढ़ना चाहते है, तो आप एमए कर सकते है। MA एक दो वर्षीय स्नाकोत्तर पाठ्यक्रम है। इसमें आप बीए में पढ़े गए विषयों में से अपनी रुचि अनुसार किसी एक विषय को चुन सकते है। एमए की पढाई किसी एक विषय में अपना करियर बनाने के लिए भी किया जा सकता है। उदहारण के लिया यदि आप इतिहासकार बनना चाहते है, तो इतिहास में एमए कर लीजिये। वहीं अगर आप की रुचि अर्थशास्त्री बनने में है तो अर्थशास्त्र में एमए कर सकते हैं।

एमए की पढाई पूर्ण होने के बाद आप सम्बंधित क्षेत्र में नौकरी कर सकते है। या फिर पढाई जारी रखते हुई पीएचडी कर सकते है। भारत के लगभग सभी यूनिवर्सिटी में एमए के पाठ्यक्रम उपलब्ध है।

बैचलर ऑफ़ एजुकेशन/ B.Ed

यदि आपको पढ़ने पढ़ाने में रुचि है, तो आपके लिए यह एकदम उत्तम विकल्प है। बीएड पाठ्यक्रम आपको शिक्षक बनने की योग्यता प्रदान करता है। इस कोर्स को करने के बाद आप किसी भी विद्यालय में शिक्षक के रूप में कार्य कर सकते है। शिक्षक बनने के लिए यह एक अनिवार्य शैक्षिक योग्यता है। बीए के बाद यह दो साल का पाठ्यक्रम होता है। इसमें पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए आपको प्रवेश परीक्षा देनी होती है। जिसमें उत्तीर्ण होने पर ही बीएड के पाठ्यक्रम में प्रवेश मिलता है।

बैचलर ऑफ़ लॉ/ LLB करने के लिए BA से स्नातक अच्छा विकल्प है

अगर आपको क़ानूनी विषयों में रुचि है, तो यह करियर विकल्प आपके लिए सबसे बेहतर है। इस पाठ्यक्रम को पूरा करके आप वकील या न्यायाधीश बन सकते है। एलएलबी एक स्नातक पाठ्यक्रम है, जो तीन वर्ष का होता है। इस पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए आपको प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करना अनिवार्य है। इसके अलावा छात्रों के पास BA और LLB के पांच साल के एकीकृत पाठ्यक्रम करने का भी विकल्प मौजूद है। इस विकल्प को चुनने से छात्रों का एक वर्ष बच जाता है।

मास्टर ऑफ बिजनेस/MBA

BA करने वाले छात्रों की यह पहली पसंद है। इस पाठ्यक्रम को पूरा करके छात्र बिजिनेस या मैनेजमेंट में अपना करियर बना सकते है। एमबीए की योग्यता वाले छात्रों को निजी क्षेत्र में आसानी से अच्छी वेतन की नौकरी मिल जाती है। एमबीए दो वर्षीय स्नाकोत्तर पाठ्यक्रम है। इस विषय में प्रवेश पाने के लिए प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करना अनिवार्य है। एमबीए को किसी भी विषय से स्नातक किये हुए छात्र कर सकते है। परन्तु कुछ विश्वविद्यालयों में एमबीए के लिए 12वीं कक्षा या बीए में गणित/ अंग्रेजी आदि विषयों की अनिवार्यता रखते है। अतः MBA में प्रवेश के लिए आवेदन करने से पहले विश्वविद्यालय द्वारा निर्धारित योग्यता जरूर जांच लें।

मास्टर्स इन कंप्यूटर एप्लीकेशन/ MCA भी कर सकते है

MCA पाठ्यक्रम कंप्यूटर इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम के समकक्ष माना जाता है। एमसीए छात्रों को एक उज्जवल भविष्य प्रदान करता है। इस पाठ्यक्रम में प्रवेश पाने के लिए प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करनी पड़ती है। परन्तु कुछ विश्वविद्यालय एमबीए की तरह एमसीए के लिए भी गणित और अंग्रेजी की अनिवार्यता रखते है। इसीलिए एमसीए के लिए आवेदन करने से पहले विश्वविद्यालय द्वारा निर्धारित योग्यता की जांच कर लें।

लेखन में करियर विकल्प

अगर आपको साहित्य पढ़ने और लिखने में रुचि है, तो लेखन का पेशा आपके लिए सबसे उत्तम विकल्प है। इसके लिए आप सामान्य बीए या साहित्यिक विषय से ऑनर्स पाठ्यक्रम से आगे पढाई कर सकते है। परन्तु इस विकल्प को चुनने के लिए आपको रचनात्मक और कल्पनाशील होना चाहिए। तभी आप अगले चलकर इस क्षेत्र में खुद को स्थापित कर पाएंगे।

पत्रकारिता में तो BA के बाद बहुत अच्छा  स्कोप है

BA के बाद छात्रों के लिए उपलब्ध सबसे लोकप्रिय पाठ्यक्रमों में पत्रकारिता का स्थान सबसे ऊपर है। पत्रकारिता में सूचना एकत्र करना एवं जनसंचार के विभिन्न माध्यमों द्वारा उसको प्रस्तुत करना शामिल है। पत्रकारिता में रुचि रखने वाले छात्र बीए के पत्रकारिता पाठ्यक्रम को चुन सकते है। यह तीन वर्ष का पाठ्यक्रम होता है।

परफार्मिंग आर्ट्स/ कला प्रदर्शन

एक्टिंग, डांसिंग, सिंगिंग, थिएटर आदि में रुचि रखने वाले BA के छात्रों के लिए सम्बंधित विषय से बीए के ऑनर्स कोर्स बहुत लाभदायक साबित हो सकते है। इस पाठ्यक्रमों को करके छात्र टेलीविज़न या सिनेमा के क्षेत्र में अपना करियर बना सकते है।

डिजाइनिंग/ डिज़ाइन बनाना

फ़ैशन डिजाइनिंग, ज्यूलरी डिजाइनिंग, फुटवियर डिजाइनिंग, इंटीरियर डिजाइनिंग, वेब डिजाइनिंग और प्रोडक्ट डिजाइनिंग आदि विषयों में रुचि रखने वाले छात्र इस करियर विकल्प को चुन सकते है। परन्तु छात्रों को डिजाइनिंग कोर्स चुनते समय अपनी रुचि और कलात्मकता को ध्यान में रखना चाहिए। छात्र सम्बंधित विषय से बीए के ऑनर्स कोर्स कर सकता है।

डिप्लोमा पाठ्यक्रम

बीए के छात्र आपदा प्रबंधन, होटल मैनेजमेंट, बीमा आदि क्षेत्रों में अपना करियर बना सकते है। इसके लिए उन्हें स्नातक के बाद सम्बंधित क्षेत्र से डिप्लोमा के शार्ट टर्म कोर्स करने होते है। कई विश्वविद्यालय इन शॉर्ट टर्म कोर्स की पेशकश करते है, जहाँ आवेदन करके आप इन कोर्सेज को कर सकते है।  

प्रशासनिक सेवाएं

बीए के बाद छात्रों के पास प्रशासनिक और सिविल सेवाओं में अपना करियर बनाने की संभावनाएं सबसे अधिक होती है। बीए के पाठ्यक्रम की वजह से आईएयस, आईपीयस एवं पीसीयस जैसी परीक्षाओं में सफलता पाना आसान हो जाता है। बीए के छात्र थोड़ा परिश्रम करके प्रशासनिक और सिविल सेवाओं में आसानी से अपनी जगह बना सकते है।

अन्य सरकारी नौकरियां

बीए के बाद छात्रों के पास बहुत सी सरकारी नौकरियां करने का विकल्प मौजूद रहता है। अभ्यर्थी कर्मचारी चयन आयोग, सीडीयस, बैंक पीवो, केंद्रीय सशास्त्र पुलिस बल, बैंक क्लर्क आदि विभागों में नियुक्तियां प्राप्त कर सकते है।  इसके लिए आपको सम्बंधित विभाग द्वारा आयोजित योग्यता परीक्षा को उत्तीर्ण करना होगा।

अबतक हमने आपको बीए के बाद उपलब्ध करियर विकल्पों के बारें में जानकारी दी है। हम उम्मीद करते है की इससे आपको अपना करियर चुनने में आसानी होगी। परन्तु जैसा की हमने अपने लेख 10वीं कक्षा के बाद करियर विकल्प में बताया था, कि आपको अपने करियर का चुनाव 10वीं कक्षा के बाद ही निर्धारित कर लेना चाहिए। जिससे की आपको अपने करियर को निखारने के लिए जरुरी समय मिल सकें।

10वीं कक्षा के बाद करियर विकल्प और 12वीं कक्षा के बाद करियर विकल्प के बारें में अधिक जानकारी के लिए सम्बंधित विषय में उपलब्ध हमारे लेखों को पढ़ें। अपने विचार और सुझाव देने के लिए नीचे टिपण्णी करें।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!