amazon seller registration

अमेज़न पर सामान कैसे बेंचे – Amazon Seller Registration

भारत में Flipkart के बाद Amazon दूसरी सबसे बड़ी ऑनलाइन बाजार उपलबध करवाने वाली कंपनी है। अमेज़न मूलतः अमेरिकन कंपनी है। Amazon की registration प्रक्रिया बहुत कुछ फ्लिपकार्ट से मिलती जुलती है। अमेज़ॅन विक्रेता खाता पंजीकरण (Amazon Seller Central) प्रक्रिया बहुत सरल है। अमेज़न व्यक्तिगत और व्यवसायिक दोनों तरह के खातों को लेकर बहुत सारे विकल्प प्रदान करता है। हर एक के अपने फायदे और उपयोगिता शुल्क हैं।

अपने पिछले ब्लॉग में हमने Flipkart पर registration और  product  sell करना , product list करना, order डिटेल्स और उनकी pricing policies के बारें में बताया था। यहाँ सवाल है उठता है कि अगर हम ऑनलाइन सामान बेच रहे हैं तो फिर हम एक प्लेटफॉर्म तक ही क्यूँ सीमित रहें? ऑनलाइन बाजार में एक सुंदरता है कि आप अपने उत्पादों को कई प्लेटफार्मों पर बेच सकते हैं। इसके लिए बस आपको उनके साथ अपना पंजीकरण करना होता है।

अमेज़ॅन पर पंजीकरण करने की प्रक्रिया शुरू करने से पहले, सुनिश्चित करें कि आप नियमों और विनियमों को अच्छे से पढ़ ले। कई बार, आपकी छोटी से गलती आपके खाते को निलंबित करवा सकती है। इसीलिए हम Amazon Registration इस जुड़ी हरेक बात का बारीकी से विवरण देंगे। किसी भी पंजीकरण प्रक्रिया को शुरू करने से पहले जरुरी दस्तावेजों के बारें में जाना लेना बेहतर रहता है।

अमेज़न विक्रेता बनने के लिए आवश्यक दस्तावेज़ (Essential Documents Required for Amazon Seller Registration )

पैन नंबर (PAN Number)

यदि आप Proprietary Firm के रूप में Amazon seller register करना चाहते हैं, तो आपको अपना व्यक्तिगत PAN नंबर प्रदान करना होगा। लेकिन यदि आप एक कंपनी के रूप में उत्पाद बेचना चाहते हैं, तो आपको अपनी कंपनी का PAN नंबर देना होगा। आप किसी CA की मदद से अपना पैन बनवा सकते है।

GSTIN नंबर (GSTIN Number)

Amazon पर seller registration के लिए GSTIN नंबर का होना अनिवार्य है। अगर आपके पास GSTIN नंबर नहीं है तो आपको फिक्र करने की जरुरत नहीं है। Amazon अपने विक्रेताओं को GSTIN registration में भी मदद करता है। आप https://cleartax.in/s/amazon-partnership लिंक पर जाके अपनी जरुरत के अनुसार GSTIN के लिए आवेदन कर सकते है।

व्यवसाय नाम (Business Name)

आप व्यक्तिगत रूप से पंजीकृत करें या एक कंपनी के रूप में आपको अपने व्यवसाय को एक नाम देना होगा। इसी व्यावसायिक नाम पर आपको GSTIN registration और बैंक अकाउंट खुलवाने होंगे।

रजिस्ट्रेशन के लिए बैंक में खाता होना बहुत जरुरी है (Bank Account)

आपको पैसे को लेनदेन के लिए एक बैंक खाते की जरुरत पड़ेगी। आप व्यक्तिगत या कंपनी के नाम पर चालू खाता (Current Account) खुलवा सकते है।

मोबाइल नंबर जिसपर आपको Amazon Order नोटिफिकेशन रिसीव होगा (Mobile Number)

कोशिश करें की विभिन्न ऑनलाइन प्लेटफार्म पर रजिस्टर करने के लिए आप अलग-अलग मोबाइल नंबर का इस्तेमाल करें। Amazon Online seller बनने की प्रक्रिया पूरी होने पर आपको जरुरी सन्देश इसी नंबर पर प्रेषित किये जायेंगे। अमेज़न पर ग्राहक और विक्रेता खातों के लिए अलग-अलग मोबाइल नंबर का उपयोग करें।

ई-मेल आईडी (E-Mail ID)

Amazon पर रजिस्टर करने के लिए आप नई ई-मेल आईडी का प्रयोग करें। क्यूंकि भविष्य में लेन-देन संबंधी सभी सूचनाएं केवल आपकी मेल आईडी पर ही साझा की जाएंगी। अमेज़न पर ग्राहक और विक्रेता खातों के लिए अलग-अलग ई-मेल आईडी का उपयोग करें।

अब, यदि आपने सभी पूर्वापेक्षाएँ पूरी कर ली हैं, तो आप अपनी अमेज़न पर पंजीकरण प्रक्रिया शुरू कर सकते हैं। Amazon Seller Account बनाने की पूरी प्रक्रिया का हमने सरल शब्दो में वर्णन किया है।

अमेज़न पर विक्रेता के रूप में पंजीकरण करने की प्रक्रिया (Process of Registration as Seller on Amazon – Amazon Seller Central)

Step 1

आप अमेज़न के आधिकारिक वेबसाइट के इस https://sell.amazon.in/ लिंक पर जाएँ। जो पेज खुलेगा वो नीचे दिए पेज के सामान होगा। उस पेज पर आपको “Start Selling” की एक बटन दिखाई देगी। आपको उसको क्लिक करके आगे बढ़ जाना है।

Amazon Registration Webpage

Step 2

आगे जाने पर आपको “Amazon Seller Central” इंडिया का पेज दिखाई देगा। वहाँ पर आपको registration के लिए “Create your Amazon Account” की बटन दिखाई देगी जैसा की नीचे दिखाया गया है। उस बटन को दबाके आपको अगले पेज पर चले जाना है।

Amazon Seller Central India Login

Step 3

अगले पेज पर आपको अपना नाम, मोबाइल नंबर, ई-मेल आईडी और पासवर्ड आदि जानकारियां भरनी होती है। सभी जानकारियां भरने के बाद आप “continue” वाली बटन दबा दीजिये। इसी के साथ अमेज़ॉन आपको आपका मोबाइल नंबर सत्यापन के लिए OTP भेजेगा। OTP भरने के बाद आप “create your amazon account” पर क्लिक करें।

Amazon seller registration form

Step 4

अगर आपने पिछले चरण में अपना ई-मेल नहीं दर्ज किया है तो आपको इस चरण में ऐसा करना पड़ेगा। ई-मेल दर्ज करके “continue” बटन को दबा के आगे बढ़ जाएं।

amazon email and password field

Step 5

अब तक आपका Amazon Account बन चुका है। अब आपको अपने बिज़नेस के डिटेल्स देने है। इस पेज पर आपको अपने कंपनी का नाम दर्ज करना होगा। नाम दर्ज करने के बाद “Seller Agreement” चेक बॉक्स सही करके “continue” बटन दबा दें।

company name with agreement checkbox

Step 6

यहाँ आपको अपने स्टोर का नाम बताना होगा जोकि आपके ग्राहकों को दिखाई देगा । आप चाहें तो कंपनी का नाम भी दे सकते है। या फिर अपने ब्रांड के अनुसार अपने स्टोर का नाम दें सकते है। उसके बाद आप कौनसे उत्पाद बेचना चाहते उसका चयन करना होगा। फिर आपको अपने वेयरहाउस का पता दर्ज करना होगा। सारा विवरण दर्ज करके आपको अगले पेज पर जाना होगा।

Address and other details for amazon seller registration

Step 7

अगले चरण में आपको यह चुनना होगा कि आप अपने उत्पादों को कैसे शिप करना चाहते हैं। अपनी सुविधानुसार विकल्प का चयन करके आप आगे बढ़ जाएँ।

product shipping method

Step 8

इसके बाद Amazon आपको अतिरिक्त सुरक्षा के लिए 2-चरणीय सत्यापन सक्षम करने के लिए कहेगा। ‘Enable Two-Step Verification’ पर क्लिक करके आगे बढ़ जाएँ ।

amazon two step verification

Step 9

एक बार, 2-चरणीय सत्यापन सेट हो जाने के बाद, साइन-इन के दौरान ओटीपी चुनौती को दबाएं के तहत, आप ‘Don’t require OTP on this browser’ विकल्प का चयन कर सकते हैं। ताकि आपको बार बार अपने कंप्यूटर/लैपटॉप पर जिस ब्राउज़र का उपयोग करके साइन इन किया है उसपे OTP न दर्ज करनी पड़े।

OTP verification

Step 10 

अब आपको अपने बिज़नेस का GSTIN नंबर दर्ज करना होगा। अगर आपके पास GSTIN नंबर नहीं है तो आप बादमें दर्ज करने का विकल्प चुन सकते है। तो अपनी सुविधानुसार विकल्प दर्ज करके “next” पर क्लिक करें।

Tax details for seller on amazon

Step 11 

अमेज़न अब आपके Amazon Seller Dashboard के लिए जरुरी जानकारी मांगेगा। यहाँ आपको अपने व्यवसाय से सम्बंधित बाकि जानकारियां देनी है। अमेज़न सेलर डैशबोर्ड के लिए मांगी गई जानकारियों के बारें में नीचे विस्तार से बताया गया है।

showing completed steps

Amazon seller registration के बाद बेचने के लिए उत्पाद (Product to Sell)

पहले चरण में आपको अपने बेचने वाले उत्पादों के बारें में जानकारी दर्ज करनी है। आप चाहे तो यही से अपने products list करा सकते है। या आप बाद में अपने विक्रेता डैशबोर्ड से ऐसा कर सकते हैं।

शिपिंग शुल्क विवरण (Shipping Fee Details)

यहाँ पर आपको अपने शिपिंग शुल्क को निर्धारित करना है। अगर आपने अमेज़न के “Easy Ship” विकलप को चुना है तो भी आपको ये शुल्क निर्धारित करने होंगे।

बैंक खाता विवरण (Bank Account Details)

अमेज़न से पैसों का लेनदेन करने के लिए यहाँ आपको अपने बैंक खाते का विवरण दर्ज करना होगा। आगे चलके अमेज़न अमेज़न आपके इसी खाते पर पैसे भेजेगी।

कर विवरण दर्ज करें (Enter Tax Details)

यदि आपने अब तक अपना GSTIN नंबर नहीं दर्ज किया है तो आप यहाँ से दर्ज कर सकते है।

डिफ़ॉल्ट उत्पाद कर कोड (Default Product Tax Code)

PTC (Product Tax Code) ऐसे कोड होते हैं जिन्हें सरकार द्वारा अधिसूचित GST दरों से मैप किया जाता है। यह वह कर राशि है जो विक्रेताओं को बाद में उनके द्वारा बेचे/प्रदान किए गए उत्पाद या सेवाओं पर जीएसटी अधिकारियों को देनी होगी। विक्रेता को अपने उत्पादों के अनुसार अपना कर कोड दर्ज करना होता है।

आधिकारिक हस्ताक्षर (Signature)

अंतिम चरण में आपको अपना आधिकारिक हस्ताक्षर दर्ज करना है। यहाँ आप सुविधानुसार विकल्प चुन सकते है। सारी जानकारियां भरने के बाद आप “Launch your Business” बटन पर क्लिक करके अपने बिज़नेस को लांच कर सकते है । वार्ना आप “Continue to Seller Central” पर क्लिक करें। यहाँ से आपको Amazon Seller Central Dashboard पर पुनः प्रेषित कर दिया जायेगा।

amazon seller central india dashboard

 

अब आप Amazon पर Registered Seller के तौर पर आधिकारिक रूप से दर्ज हो गए है। आप अपने Amazon seller account को अमेज़न के Seller Central Dashboard के जरिये संचालित कर सकते है। Amazon Seller Central Dashboard नीचे दिए पेज की तरह दीखता है। अमेज़न डैशबोर्ड पर आपको अपने खाते से सम्बंधित सारी जानकारी उपलब्ध रहती है। जैसा कि आप अमेज़न सेलर डैशबोर्ड के मुख्या पृष्ठ के मुख्य मेनू में दिए गए विभिन्न विकल्प में देख सकते हैं। इन्ही विकल्पों की मदद से आप अपने खाते को सफलतापूर्वक संचालित कर सकते है।

अमेज़ॅन पर बिक्री शुरू करने से पहले आपको कुछ और चीजें जाननी चाहिए। हम यहां उन चीजों को समझाने की कोशिश करेंगे।

शुल्क और मूल्य निर्धारण (Fees & Pricing)

अमेज़न अपने प्लेटफॉर्म का उपयोग करने के लिए कुछ शुल्क लेता है। जिसमे रेफरल शुल्क, क्लोजिंग शुल्क, शिपिंग शुल्क, पिक एंड ड्रॉप शुल्क आदि शुल्क शामिल है। आप अमेज़न के इस https://sell.amazon.in/fees-and-pricing लिंक पर जाके पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते है। पेज के अंत में आप अपने मुनाफे की गणना भी कर सकते है।

उत्पाद भेजने के विकल्प और शुल्क (Shipping Options & Charges)

जब कोई ग्राहक आपका उत्पाद खरीदता है, तो विक्रेता के रूप में आप 3 तरीकों से उत्पाद वितरित कर सकते हैं। आप अमेज़न के इस https://sell.amazon.in/sell-online/fulfillment लिंक पर जाके इसके विकल्पों के बारें में जान सकते है। साथ ही आपको किस विकल्प के लिए क्या शुक्ल देना होगा उसकी जानकारी भी उपलब्ध है।

पैकेजिंग सामग्री (Packaging Material)

आपको अपने उत्पाद भेजने के लिए Amazon Branded पैकिंग मटेरियल का ही प्रयोग करना होगा। इसके लिए आप अपने सेलर डैशबोर्ड से आर्डर दे सकते है।

भुगतान निपटान (Payment Settlement)

आपके उत्पाद की बिक्री के सात दिन के अंदर आपके भुगतान का निपटारा कर दिया जाता है। विक्रेता डैशबोर्ड पर भुगतान रिपोर्ट और सारांश उपलब्ध रहता है ।

अपना व्यवसाय बढ़ाएं (Grow Your Business)

Amazon अपने विक्रेताओं को अपने व्यवसाय बढ़ाने में भी मदद करता है। https://sell.amazon.in/grow-your-business.htm लिंक पर व्यवसाय बढ़ाने की जरुरी जानकारी उपलब्ध है। इन जानकारियों का उपयोग करके आप अपने व्यवसाय को बहुत जल्दी बढ़ा सकते है।

शुरुआती मार्गदर्शक (Beginners Guide)

अगर अब भी आपको Amazon पर product sell करना मुश्किल लगता है। तो आप Amazon की Beginners Guide पढ़ सकते है। जोकि इस https://sell.amazon.in/beginners-guide.html लिंक पर उपलब्ध है। इसके अलावा अमेज़न उपभोगता कर्मचारी भी आपकी सहायता करते है। इस सबके बावजूद आपको कुछ और जानना चाहे तो हमें लिख सकते है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!